25 देशो को पीछे छोड़ के भारत ने टूरिज्म में मारी बाजी

25 देशो को पीछे छोड़ के भारत ने टूरिज्म में मारी बाजी

हाल ही में भारत में टूरिज्म के लिए एक बहुत ही अच्छी खबर सामने आई है वो है कि धीरे धीरे विदेशियों की रूचि भारत के लिए बढ़ रही है। जिसकी वजह से देश के पर्यटन क्षेत्र में लगातार काफी सुधार हो रहा है। कहा जा रहा है कि वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की ताजा रिपोर्ट में भारत की पिछली चार साल की रैंकिंग में बहुत ही बड़ा उछाल नजर आ रहा है। सूत्रों के हवाले पता लगा है कि 2015 में इस इंडेक्स के अंदर भारत 52वें स्थान पर था और वही इस बार के यानी कि 2019  में भारत 34वें स्थान पर पहुंच गया है। इस बार की भारत की रैंकिंग ने टॉप 25 देशो को बहुत ही पीछे पछाड़ दिया है। इसी के साथ साथ भारत के स्कोर में भी बहुत इजाफा हुआ है।

2015 में  इस गिनती में भारत का स्कोर 4.0 था लेकिन 2019 में यही स्कोर 4.4 हो गया है। आकड़ो के अनुसार भारत में 2015 में  इस गिनती में भारत का स्कोर 4.0 था लेकिन 2019 में यही स्कोर 4.4 हो गया है। आकड़ो के अनुसार भारत में स्वास्थ्य, स्वच्छता, सुरक्षा, टूरिस्ट सर्विसेज और इंफ्रास्ट्रक्चर में कई तरह का सुधार आया है जिसकी वजह से फायदा रैंकिंग में मिला है। भारत के प्राकृतिक और सांस्कृतिक संसाधन भी विदेशियों को अपनी तरफ आकर्षित करने में कामयाब रहे हैं।

टूरिज्म इंडेक्स की अंदर कुल मिलाकर 140 देशो को शामिल किया गया है। डब्ल्यूईएफ के इंडेक्स के अंदर स्पेन टॉप पर है। इसी के साथ में फ्रांस, जर्मनी, जापान, अमेरिका, यूके, ऑस्ट्रेलिया, ईटली, कनाडा और स्विटजरलैंड टॉप 10 में शामिल किये गए है। सबसे  ज्यादा गौर करने वाली बात यह है कि स्पेन साल 2015 से लेकर अभी तक टॉप पर ही बना हुआ है। यह टूरिज्म की वर्ल्ड इकनोमिक फोरम की यह रिपोर्ट हर दो साल में एक बार जारी की जाती है।

कहा जा रहा है कि दक्षिण एशिया के अन्य कई देशो के मुकाबले भारत ने अपने व्यापार और पर्यटन क्षेत्र में बहुत ही जबरदस्त काम किया है।सूत्रों के मुताबिक पता लगा है कि 2017 में तक़रीबन 1.5 करोड़ विदेशी भारत घूमने आये थे।

Also Read:

फूड पॉइजनिंग होने पर करे यह 5 असरदार उपाय

जानिए किस कारण से होती है हड्डियां कमजोर?

नारियल पानी के ऐसे 5 फायदे जो मदद करे भयंकर रोगो से लड़ने मे

महिलाये, डाइट में जरूर शामिल करे ये पोषक तत्व

Like & Share: @roundbubble

 Back to Top