जानिये हल्दी वाले दूध के बेमिसाल फायदे

जानिये हल्दी वाले दूध के बेमिसाल फायदे

जैसा की हम जानते है हल्दी अपने एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुणों के लिए जानी जाती है। एवं दूध कैल्शियम  का स्त्रोत होने के साथ साथ में शरीर और दिमाग के लिए एक अमृत के समान है। लेकिन अगर दोनों के गुणों को मिला दिया जाए तो यह मेल आपके लिए बहुत ही शानदार साबित होता है। आज के लेख में हम आपको बताएगे कैसे।

जब चोट लग जाए

यदि किसी भी कारण से आपके शरीर के बाहरी एवं अंदरूनी हिस्से में चोट लग जाए तो हल्दी वाले दूध से उसे जल्दी  ठीक करने में ही बेहतर लाभ मिलेगा। इसके अंदर एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते है जिसकी वजह से बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता है।

शारीरिक दर्द

शरीर के दर्द में हल्दी वाला दूध बहुत आराम देता है।  अगर  आपके हाथ, पैर एवं शरीर के किसी अन्य भाग में दर्द की शिकायत है तो रात को सोने से पहले हल्दी वाले दूध का सेवन करे।

त्वचा को साफ़ और खूबसूरत बनाए

जब दूध पीते है तो उससे त्वचा में प्राकृतिक चमक पैदा होती है। इसी के साथ में दूध के साथ में हल्दी के सेवन को भी बहुत अच्छा माना जाता है। इसमें एंटीसेप्टिक व एंटी बैक्टीरियल होने के कारण त्वचा की समस्याओं जैसे इन्फेक्शन, खुजली, मुंहासे  आदि  बैक्टीरिया को बहुत ही धीरे धीरे खत्म कर देता है। ऐसा करने से आपकी त्वचा बेहद साफ़, स्वस्थ और चमकदार दिखाई देती है।

सर्दी लगने पर

जब किसी को सर्दी। जुकाम या कफ होता है तो हल्दी वाले दूध का सेवन बहुत ही लाभकारी होता है। ऐसा करने से सर्दी और जुखाम तो ठीक हो ही जाता है इसी के साथ में फेफड़ो में जमा हुआ कफ भी बाहर निकल जाता है। अगर सर्दी के मौसम में हम इसका सेवन करते है तो यह आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

हड्डियों को मजबूत बनाए

जैसा की हम जानते है कि दूध में कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है तो यह हड्डियों को मजबूत बनाए रखने में मदद करती है। हल्दी में एंटीबैक्टीरियल गुण होते है जिसकी वजह से रोगप्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। इससे हड्डी सम्बंधित अन्य प्रकार की समस्याओं से छुटकारा मिलता है। एवं ऑस्टियोपोरोसिस में कमी आती है।

जब नींद आने में परेशानी हो

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि लोगो को नींद आने में काफी परेशानी होती है। इसके लिए सबसे अच्छा घरेलु नुस्खा है हल्दी वाला दूध। इसका सेवन आप रात को भोजन के बाद सोने के आधे घंटे पहले कर सकते है।

पाचन तंत्र में गड़बड़ी होने

हल्दी वाले दूध का सेवन करने से आपकी आंतो से पाचन संबंधी समस्याए दूर होती है। आपकी आंतो को स्वस्थ रखने  में भी यह मददगार है। पेट में अल्सर, डायरिया, अपच, कोलाइटिस एवं बवासीर जैसी समस्याओं में भी हल्दी वाला दूध फायदेमंद है।

जोड़ो के दर्द में असरदारी

अगर कोई नियमित रूप से हल्दी वाले दूध का सेवन करता है तो गठिया बाय, जकड़न को दूर करता है। इसी के साथ में जोड़ो और माशपेशियों को लचीला बनाता है।

ब्लड शुगर को कम करे

जब खून के अंदर शर्करा की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है तो ऐसे में हल्दी वाले दूध का सेवन ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है। लेकिन अत्यधिक सेवन शुगर को अत्यधिक कम कर सकता है।

सांस लेने में तकलीफ

हल्दी के दूध में एंटी माइक्रो बैक्टेरियल गुण मौजूद होते है  जो कि दमा, ब्रोंकाइटिस, साइनस, फेफड़ों में जकड़न एवं कफ से राहत देने में सहायता करता है।

वायरल संक्रमण

कई बार शरीर में आए हुए बदलाव एवं अन्य कारणों से होने वाले वायरल संक्रमण में हल्दी वाला दूध बहुत ही बेहतर उपाय है। इससे आप संक्रमण से बचाता है।

Also Read:

कैसे कमजोर होती हड्डियों को बनाए मजबूत?

सर्दी के मौसम में करे त्वचा के रूखेपन को दूर इन 5 घरेलु चीजों से

प्रेग्नेंसी के दौरान नहीं करे अपनी सेहत से समझौता, कौनसे स्नैक्स खाए प्रेग्नेंसी के दौरान

अगर घर में है यह 4 रंग तो बदल सकती है आपकी दुनिया

Like & Share our Facebook Page.

 Back to Top