आने वाले दिनों में देश के कई हिस्सों में आंधी और बिजली की कहर

आने वाले दिनों में देश के कई हिस्सों में आंधी और बिजली की कहर

हाल ही में मौसम विभाग ने 11 मई से लेकर 15 मई तक उत्तर पश्चिम भारत के कई इलाको में आसमानी बिजली कड़कने के साथ साथ रुक रुक के आंधी और बारिश की आशंका जाहिर की गयी है। एक खबर के मुताबिक़ यह भी कहा जा रहा है कि इस बीच में जम्मू कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखण्ड के पहाड़ी इलाको समेत में ऐसी ज्यादातर जगह है जहा पर मध्यम दर्जे की बारिश भी हो सकती है। और पश्चिम बंगाल और सिक्किम के लिए यह चेतावनी दी गई है कि 12- 13 मई को आंधी और बारिश आने की भारी संभावना है।

मौसम विभाग ने पूर्वोत्तर भारत के लिए मौसम विभाग ने 12 मई से लेकर 16 मई तक तेज हवाओं के साथ साथ  बारिश आने का भी अंदेशा जाहिर किया है।  मौसम विभाग के डीजीएम बीपी यादव के मुताबिक उत्तर पश्चिम भारत में एक के बाद एक तीन वेस्टर्न डिस्टरबेंस अपना असर दिखा रहे है। इसी वजह से मैदानी इलाको के साथ साथ में पहाड़ी इलाको के मौसम में भी पूरी तरीके से बदल जायेगा। ऐसी खबर सामने आई है कि 11 मई से पहले वेस्टर्न डिस्टर्बेंस का असर दिखना शुरू हो जायेगा।

यही वजह है जिसकी वजह से पश्चिमी राजस्थान से लेकर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमालय, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में बादलों की आवाजाही बढ़ जाएगी।ऐसी कई जगह है जहा हलकी फुलकी बारिश शुरू हो चुकी है इसी के साथ में तेज हवाओं के थपेड़े लोगो को सहन करने पड़ेगे। लोगो को सतर्क रहना पड़ेगा क्योकि आंधी और बारिश के साथ में ऐसा अंदेशा लगाया जा रहा है कि बिजली गिर सकती है।

गर्मी के मौसम ने बदले अपने रुख

जो गर्मी अभी सभी लोग महसूस कर रहे है वो मौसम के करवट लेने से निजात पा जायेगे। कहा जा रहा है कि ज्यादातर इलाको का टेम्परेचर 40 डिग्री सेल्सियस से निचे चला जाएगा। मौसम विभाग ने यह बात सांझा की है कि हरियाणा, चंडीगढ़ एवं दिल्ली में 11 मई को और 12 मई को 30 से लेकर 40 घंटे की रफ़्तार से आंधी आ सकती है। और बारिश होने की संभावना है।

अब हम बात करते है उत्तराखंड की तो यहा पर मौसम विभाग का कहना है कि 11 मई को यहाँ पर आंधी और बारिश के साथ में ओलावृष्टि  संभावना भी है। उत्तराखंड में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से तेज हवाई चलेंगी। ऐसी ही सामान स्थिति 12 से लेकर 15 मई तक यही बनी रहेगी। कहा जा रहा है गढ़वाल और कुमांऊ दोनों  इलाको में मध्यम दर्जे की बारिश होने की पूरी पूरी संभावना है। ऐसा ही बारिश का सिलसिला 18 मई तक युही जारी रहेगा।

मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश के लिए 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से कई इलाको में आंधी आने की आशंका मौसम  विभाग ने जताई है। ओलावृष्टि होने की ख़ास आशंका जताई गयी है।

बदलते हुए मौसम का असर सबसे ज्यादा राजस्थान में देखा जायेगा। यह पर मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि पश्चिमी राजस्थान में ज्यादातर जगहों पर धूल भरी आँधियो के साथ साथ बारिश भी होगी। राजस्थान में धूल भरी हवाओ की रफ़्तार 40 से 60 किलोमीटर प्रति घंटे की होने की संभावना जताई जा रही है। ऐसी स्थिति आने वाले सात दिनों तक ऐसी ही बनी रहेगी।

यह भी पढ़िए 

अपनी कमजोर मेमोरी को शार्प करे, इन तीन चीज़ो की मदद से

बदले अपनी खाली पेट सोने की आदत, नहीं तो हो सकती है यह बीमारियां

गर्मियों में बनाये अपने बाल हेल्दी और चमकदार, अपनाये यह टिप्स

अपनी शादीशुदा जिंदगी को बचाने के लिए बदलें ये आदतें

 

Latest Article

 Back to Top