होलिका दहन के समय इन बातो का रखे ध्यान

होलिका दहन के समय इन बातो का रखे ध्यान

रंगो का त्यौहार आ गया है। इस साल होली का त्यौहार पुरे देश में 21 मार्च में मनाया जायेगा।  रंगो के त्यौहार से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है। ऐसी मान्यता है कि अगर आप दरिद्रता से झूझ रहे है तो इसका बहुत अच्छा उपाय आप होलिका दहन  वाले दिन कर सकते है।

दरिद्रता से मुक्ति पाने के लिए इस दिन आप शरीर पर उबटन लगाकर उसके अंश को होलिका में डाले।  ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि आने के साथ साथ गरीबी भी दूर होती है। लेकिन होलिका दहन करते समय भी कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए।

Holika Dehan

होलिका दहन के समय किन बातो का रखे ध्यान:

  • सबसे पहले बात यह है कि सही समय पर होलिका दहन करे।
  • होलिका दहन पूर्णिमा के अंतिम भाग में यानी भद्रा रहित काल में होगा।
  • होलिका दहन का शुभ मुहूर्त दिनांक 20 मार्च को बुधवार रात को 9 : 05 से लेकर 11 :31 के बीच में होगा। क्योकि यही वो समय है जो भद्रा रहित होगा। यही वजह है जिसकी वजह से शाम को होलिका दहन का समय रखा गया है।
  • जिस जगह होलिका दहन होगा वह स्थान पहले गंगाजल से शुद्ध करे।
  • जहा पर होलिका दहन करना हो वह पर बीच में डंडा रखे। एवं चारो तरफ सूखे उपले, सुखी लकड़ी, सुखी घास रखे। उसके बाद में अग्नि जलाए और होलिका दहन करे।

बच्चो को नजर दोष से बचाए रखने के अचूक उपाय

  • होलिका दहन में नारियल गोला, सुपारी और सिक्के डाले।
  • नारियल डालने की वजह यह है कि बच्चो की बुद्धि को अच्छी करेगा और दिमाग को तेज करेगा।
  • सुपारी डालने की यह वजह है कि उनकी बुरी आदतों और बुरे विचारों पर रोक लगेगी।
  • यह सब डालने से बच्चो की बुराई होलिका दहन की अग्नि में जलकर भस्म हो जाएगी।
  • कुछ समय बाद ही आपको ऐसा महसूस होगा की बच्चे सुखी होकर पढाई कर रहे है और धन भी जल्दी कमाने लगेंगे।

Latest Article

 Back to Top