फानी तूफ़ान का सामना करने के लिए महिलाएं अपनाए घर में ये सेफ्टी रूल्स

फानी तूफ़ान का सामना करने के लिए महिलाएं अपनाए घर में ये सेफ्टी रूल्स

फानी यानी कि चक्रवाती तूफान करीब 9 बजे ओड़िशा के तटों से टकरा गया है। कहा जा रहा है कि इस समय हवा की रफ़्तार 180 से 245 किमी प्रति घंटा के बीच में बताई जा रही है।जैसे ही तूफ़ान आने के संकेत मिले तो सुरक्षा के भी इंतजाम पुख्ता किये गए है।

मौसम विभाग, एनडीआरएफ समेत सभी राहत और बचाव एजेंसियां हाई अलर्ट पर हैं।जो लोग तट के किनारे रहते है उन्हें घरों से ना निकलने की सलाह दी गई है। इसलिए लोगो के लिए जगह  जगह राहत बचाव केंद्र बनाए गए है। ऐसे में प्रशासन ने लोगो को समुन्द्र तट के नजदीक नहीं जाने की सलाह दी है।

ऐसी स्थिति देखते हुए अभी तक ग्यारह लाख लोगो को सुरक्षित स्थान पर पंहुचा दिया गया है। इतना ही नहीं प्रशासन द्वारा लोगो को सावधान रहने की भी सलाह दी गई है। आज के लेख में हम आपको बतायेगे कि महिलाये किस तरह से कौन कौन सी सावधानियां बरत सकती है जिससे इस खतरे से होने वाले नुकसान काफी हद तक काम हो सकते है।

चक्रवाती तूफान ‘फानी’ से निपटने के लिए अपनाएं ये सावधानियां-

fani

  • समय ऐसा कि आपकी जान जाने का खतरा भी हो सकता है। ऐसे में अपने कीमती सामन की चिंता ना करे। और प्रशासन क अलर्ट जारी करते ही तुरंत अपना घर खाली कर दीजिये।
  • अफगाह फैलाने का काम ना करे, एवं अफगाहो पर ध्यान भी ना दे।
  • जब अलर्ट जारी हो तब मोबाइल, रेडियो, टीवी, अखबार से मिली हुई सूचनाओं पर ही विश्वास करे।
  • महिलाएं पहले से ही यह कोशिश करे कि खाने पीने का सामान पहले से ही सुरक्षित रखे। अगर संभव हो तो सूखे खाने की भी व्यवस्था अपने साथ में रखे।
  • जब ऐसे खतरे का समय हो तो घर की बिजली को बंद कर दे। घर से निकलते समय अपनी जरुरी दवाओं को रखे। टोर्च को जरूर साथ में ले ले रोशनी के लिए।
  • रेडियो सुनते रहे इससे आप साइक्लोन अलर्ट से जुडी साड़ी जानकारी लेते रहेंगे। एक अलर्ट जारी करने का मतलब होता है कि आने वाले 24 घंटे तक आप सतर्क रहे।
  • अगर आपके घर खाली करने की नौबत आ रही है तो बाढ़ से बचाने के लिए अपने कीमती सामान को ऊपरी  मंजिल पर रख दे।
  • घर के खिड़की दरवाजों को हवा के विपरीत दिशा में ही खोले।
  • अगर किसी भी अनहोनी से बचना है तो ऐसे समय पर घर की बिजली का मेन स्विच बंद कर दे।
  • ऐसे समय पर परेशान ना हो, ध्यान दे, शांत रहे। अगर आप घबराएंगे तो उससे सिर्फ कन्फ्यूजन पैदा होगा। ध्यान रहे कि घायल और जख्मी लोगो को तुरंत मेडिकल की मदद दिलवाये।

Latest Article

 Back to Top