फिल्म रिव्यु: सिम्बा

फिल्म रिव्यु: सिम्बा

आज सिनेमाघरों में रिलीज़ हो गयी है रोहित शेट्टी के निर्देशन में बनी फिल्म सिम्बा। अब आते है कहानी पर। सिम्बा कहानी है इंस्पेक्टर संग्राम भालेराव की। यह अनाथ बच्चा होता है जिसका जन्म तो गुंडा बनने के लिए हुआ था।  लेकिन वह बन जाता है एक पुलिसवाला। इसकी वजह भी एक ही होती है की उस बच्चे को पता होता है की वर्दी में गुंडे से ज्यादा पावर होती है। इस कहानी में पुलिसवाला सोना चोरी करने वाले से भी पैसे लेता है यानी की रिश्वत और जिसका सोना होता है यानी की सुनार उससे भी पैसे लेता है। इस फिल्म की कहानी है की इंस्पेक्टर संग्राम भालेराव को पैसे का भूखा नहीं है।  वह प्यार का भूखा है और उसे प्यार सिर्फ पैसे से है।

इस फिल्म में सिम्बा गोवा के मिरामर पुलिस स्टेशन का इंचार्ज है। यह पुलिस स्टेशन वह के लोकल गुंडे दूर्वा का एक सरकारी अड्डा होता है।  उस इलाके में वही होता है जो गुंडा दूर्वा चाहता था। सिम्बा शुरू से वह पाय रोल पर ही काम कर रहा था। जो की बस एक कर्मचारी होता है। लेकिन फिल्म देखते देखते पता लगेगा की कैसे सिम्बा का अंदर का पुलिस वाला बहार आता है। ऐसा क्यों हुआ, कब हुआ, कैसे हुआ, यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

स्टार कास्ट तड़का

रणवीर सिंह की एक्टिंग लाजवाब थी। एक लालची, करप्ट लेकिन एक संवेदनशील पुलिस वाले का रोल बहुत ही बखूबी निभाया है। रणवीर सिंह कॉमेडी बहुत ही लाजवाब करते है। और रणवीर पर इमोशनल सीन्स भी बहुत जचते है।सारा अली खान की एक्टिंग भी बहुत ही अच्छी है।  यह सारा की दूसरी फिल्म है और उनकी एक्टिंग बहुत ही लाजवाब है। सोनू सूद ने भी विलीन का रोले बखूभी निभाया है। कुल मिला कर बात की जाये तो यह फिल्म बहुत अच्छी है।

Latest Article

 Back to Top