सूंदर और स्वस्थ संतान के लिए मह्त्वपूर्ण उपाय

सूंदर और स्वस्थ संतान के लिए मह्त्वपूर्ण उपाय

माँ बनना हर औरत के लिए एक बहुत ही सुखद अनुभव होता है। उसी तरह से माँ बनने के साथ साथ हर माँ की इच्छा होती है कि उसकी संतान सूंदर और स्वस्थ हो। ऐसे में जब भी गर्भ ठहर जाये तो दिए गए उपाय अपना लेने चाहिए। आज के लेख में जो उपाय हम आपको बताने वाले है वो बहुत ही पुराने है और असरदार भी है। इन्ही उपायों की बदौलत पुराने ज़माने की औरते आराम से सूंदर और स्वस्थ बच्चे को जन्म देती थी।

जानने के लिए पढ़िए

  • अगर कोई भी गर्भवती स्त्री पहले महीने से आठवे महीने तक रोजाना दो संतरे खाती है तो बच्चा काफी सुंदर एवं गोरा होता है।
  • जब गर्भधारण का पता लग जाये तो आधा से एक ग्राम वंशलोचन का चूर्ण रात्रि सोने से पहले प्रथम तीन चार महीने दूध के साथ निरंतर सेवन करने से बच्चा गोरा और हस्तपुष्ट होता है। इसके सेवन से माँ भी स्वस्थ रहती है और गर्भपात का डर भी नहीं होता। वंशलोचन का सेवन दिन में जितनी बार हो उतनी बार कर लेना चाहिए। कच्चे नारियल की गिरी, मिश्री के संग चबा कर खाते रहने से भी संतान गोरी, सूंदर, हष्ट पुष्ट एवं गर्भवती स्त्री की कमजोरी दूर होगी।
  • गर्भवस्था के दौरान नौ माह तक नित्य भोजन के बाद में सौफ चबाते रहने से संतान गौरवर्ण होती है।
  • गर्भवती स्त्री को यदि नियमित रूप से ताजा अंगूरों का रस 60 ग्राम की मात्रा में दिन में दो बार देने से गर्भस्थ, दांत का दर्द, मरोड़, सूजन, अफरा और कब्ज आदि भी नही होती है।
  • गर्भवती स्त्री को रोजाना नाश्ते में आंवले का मुरब्बा खाना चाहिए इससे बच्चा सूंदर होता है।

 

 Back to Top