बर्फीली तबाही से बचाने के लिए कैसे रेस्क्यू चल रहा है दुनिया की सबसे ऊँची सड़क पर

बर्फीली तबाही से बचाने के लिए कैसे रेस्क्यू चल रहा है दुनिया की सबसे ऊँची सड़क पर

भारी बर्फ़बारी के चलते जम्मू कश्मीर के लद्दाख में हिमस्खलन होने के कारण दस सैलानी और उनके साथ उनके वाहन बर्फ के नीचे दब गए है। सूत्रों के मुताबिक पता लगा है कि अभी तक सिर्फ चार शवों को बाहर निकालने में कामयाबी मिली है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि अभी तक छः लोग बर्फ में दबे हुए है।

लद्दाख के खारदुंगला में बीच सड़क पर बर्फ का पहाड़ गिर गया…

कहा जा रहा है कि मौके पर भारतीय सेना और जम्मू कश्मीर पुलिस की टीम राहत और बचाव अभियान में जुट गयी थी। लेकिन ख़राब मौसम और मौसम में बदलाव के चलते बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।खबरों के मुताबिक पता लगा है कि शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे लद्दाख के खारदुंगला में बीच सड़क पर बर्फ का पहाड़ गिर गया था जिसकी चपेट में कई पर्यटक आ गये थे। खारदुंगला दर्रे पर यह दुनिया की सबसे ऊँची सड़क है।

जिसका तापमान माइनस १५ से भी नीचे पहुंच गया है।इस हिमस्खलन की चपेट में आए पर्यटकों की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है। वहीं, मौसम विभाग ने कश्मीर घाटी और हिमाचल प्रदेश में अगले दो दिन में जमकर बर्फबारी जारी रहने का पूर्वानुमान जताया है। सेना और पुलिस के जवान बर्फ में दबे लोगों को तलाश रहे हैं।

इससे पहले 3 जनवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में हिमस्खलन में एक जवान शहीद हो गया था, जबकि एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया था। इस घटना के वक्त ये दोनों जवान जवान जम्मू कश्मीर के पुंछ सेक्टर के सब्जियान क्षेत्र में स्थित सेना की पोस्ट में तैनात थे।

Latest Article

February 1, 2019 11:55 am
 Back to Top