नींद की गोलियों से रहे सावधान- हाई ब्लड प्रेशर का खतरा

नींद की गोलियों से रहे सावधान- हाई ब्लड प्रेशर का खतरा

आज कल जैसे नींद की गोलिया खाना ट्रेंड बन गया है। ऐसे कई लोग देखने को आये है जो नींद की गोलियों का निरंतर सेवन करते है।  इसकी दो वजह हो सकती है या तो वो व्यक्ति तनाव होने की वजह से नींद की गोलिया ले रहा हो या फिर नींद ना आने की वजह से नींद की गोलियों का सेवन कर रहा हो।

बीमारियों को न्योता देती है नींद की गोलियां…

अगर हम शुरूआती दिनों की बात करे तो नींद की गोली फायदेमंद लगती है और इसके सेवन से जल्दी नींद भी आ जाती है। लेकिन नींद की गगोली जब आदत बन जाती है तो बहुत खतरनाक  साबित होती है।अगर आप सोने के लिए नींद की गोलियों का सहारा ले रहे है तो सावधान हो जाइये। आज के इस लेख में हम आपको बतायेगे की यह कैसे खतरनाक है।

हाल ही में एक रिपोर्ट से यह बात सामने आयी है कि जो लोग रोजाना नींद की गोलियों का सेवन करते है उनमे हाई ब्लड प्रेशर रहने का खतरा होता है। एक रिपोर्ट के जरिये यह मामला सामने आया है कि जो व्यक्ति नियमित तौर पर नींद की गोलियां लेते है उन्हें आएगी चल कर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है।

एक रिसर्च के दौरान तनाव और उच्च रक्तचाप से ग्रस्त करीब 752 बुजुर्ग लोगो को शामिल किया।  उस रिसर्च के दौरान यह पाया गया कि तक़रीबन 160 लोगो ने एंटीहाइपरटेंसिव की दवाइयों की संख्या में वृद्धि करी। इसके बाद में नींद की अवधि में या क्वालिटी और एंटीहाइपरटेंसिव ड्रग के उपयोग में परिवर्तन के बीच कोई सम्बन्ध नहीं पाया गया।

डॉक्टर्स का यह मानना है कि उच्च रक्तचाप के इलाज की आवश्यकता और अनहेल्दी लाइफस्टाइल की ओर संकेत करता है।  जो कि  प्रेशर के लिए जिम्मेदार  होता है। वही दूसरी ओर एक और रिसर्च में यह पता लगा है कि नींद की गोलिया लेने से अल्जाइमर बीमारी होने का खतरा बढ़ता है।

 Back to Top